SSC CGL OR PGT WHICH ONE IS BETTER?

वर्तमान में  छात्रों के बीच इस बात को लेकर एक अस्पष्टता सी है कि एसएससी सीजीएल और पीजीटी के बीच किसे करियर का विकल्प चुना जाए। इस आर्टिकल के माध्यम से हम इस नौकरियों के सकारात्मक और नकारात्मक पहुलुओं पर चर्चा करने की कोशिश करेंगे। सरकारी नौकरियों के बीच एसएससी सीजीएल पूरे भारत में कई उम्मीदवारों के लिए सबसे पसंदीदा जॉब है। हालांकि, वर्तमान में अच्छी शिक्षण क्षमताओं के साथ अब कई नौकरी तलाशने वाले उम्मीदवार स्नातकोत्तर शिक्षक की नौकरी की तरफ रूख कर रहे हैं।



इन परीक्षाओं का संचालन करने वाले निकाय: स्वायत्त निकाय जैसे- केन्द्रीय विद्यालय संगठन, नवोदय विद्यालय समिति और अन्य संगठन पीजीटी शिक्षकों की भर्ती करते हैं। वो लोग जिन्होंने पीजीटी परीक्षा में सफलता हासिल की है वो केंद्र सरकार के स्कूलों में एक उच्चतर माध्यमिक शिक्षक के रूप में नियुक्ति के लिए पात्र हो जाते हैं। एसएससी हर साल केंद्र सरकार में ग्रुप बी और ग्रुप- सी के रिक्त पदों पर भर्ती करने के लिए सीजीएल की परीक्षा आयोजित करता है।



एसएससी सीजीएल में साइंस टॉपिक्स का विश्लेषण व तैयारी की रणनीति- जानिये

इन पदों को इन परीक्षाओं के तहत भरा जाता है: केवीएस, एनवीएस, आदि और संघ शासित प्रदेशों के तहत उच्चतर माध्यमिक स्कूलों और उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में पीजीटी केंद्र सरकार के अधीन विभिन्न विषय विशेषज्ञ शिक्षकों की भर्ती करता है। राज्य सरकार के अधीन आने वाले गैर सहायता प्राप्त निजी स्कूल भी अपने स्वयं की पीजीटी का संचालन कर सकते हैं।

परीक्षा की योजना: केवीएस पीजीटी परीक्षा को दो भागों में बाटा गया है- भाग 1 और भाग 2। भाग 1 के पेपर में 40 प्रश्न होते हैं, जबकि भाग 2 में कुल 160 सवाल होते है। दोनों पत्र मल्टीपल च्वॉइस वाले प्रश्न होते हैं। एसएससी सीजीएल के मामले में पूरी चयन प्रक्रिया को स्तरों में बांटा गया है। केंद्र सरकार की नौकरियों में प्रवेश करने के लिए वर्तमान में यह चार स्तरों की परीक्षा है।

एसएससी सीजीएल और आईटी नौकरियों के बीच तुलना

पात्रता मानदंड: एसएससी सीजीएल में अधिकांश नौकरियों के लिए एक स्नातक की डिग्री चाहिए और अर्थशास्त्र, वाणिज्य, लेखा जैसे विषयों के लिए एक अति विशिष्ट योग्यता की आवश्यकता होती है, जबकि पीजीटी के तहत शिक्षण कार्य के लिए शिक्षा में स्नातक के साथ स्नातक की डिग्री की आवश्यकता होती है। टीजीटी (ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर) एक स्नातक होता है जिसे शिक्षण में प्रशिक्षित किया जाता है। यदि एक उम्मीदवार पहले से ही बी.एड. है तो वह स्वयं ही एक टीजीटी बनने के योग्य हो जाता है । एक टीजीटी 10 वीं कक्षा तक को पढ़ाता है। पीजीटी (पोस्ट ग्रेजुएट टीचर) के मामले में, स्नातकोत्तर होना जरूरी है और बी.एड. होना भी जरूरी है। एक पीजीटी बारहवीं कक्षा तक के बच्चों को पढ़ा सकते हैं।



पीजीटी के मुकाबले एसएससी सीजीएल के लाभ:

  1. एसएससी सीजीएल में नौकरी प्रोफाइल शिक्षक की नौकरी की तुलना में अत्यधिक चुनौतीपूर्ण हैं।
  2. एसएससी सीजीएल में सफलता हासिल करने का मतलब है कि एक सरकारी नौकरी हासिल हो गई है, जबकि पीजीटी में सफलता हासिल करने का मतलब है कि किसी भी सरकारी संस्थानों में नौकरी सिक्योर करना।
  3. एसएससी सीजीएल में कई फायदे मिलते हैं। समाज और सामाजिक संबंधों में गहरा प्रभाव पड़ता है और सामाजिक प्रतिष्ठा भी मिलती है जबकि दूसरी तरफ टीचर को केवल सामाजिक सम्मान मिलता है क्योंकि वह भविष्य की पीढ़ियों का निर्माण करता है।

आर्टस के परीक्षार्थियों के लिए एसएससी रीजनिंग में उच्च अंक प्राप्त करने हेतु शत प्रतिशत सफल टेक्निक



  1. वेतन, लाभ आदि के मामले में भी एसएससी सीजीएल की नौकरी ज्यादा फायदेमंद रहती है और इसमें समय पर प्रमोशन भी मिलता है।
  2. प्रोन्नति के मामले में, एसएससी सीजीएल श्रेणी पदों में समय पर पदोन्नति प्राप्त करने की अच्छी संभावना रहती है।
  3. सीजीएल अधिकारियों की अधिकांश पोस्टिंग महानगरों में या राज्य और जिलों के मुख्यालयों में ही रहती है। वहीं पीजीटी को ज्यादातर केवीएस, एनवीएस और शहरी या अर्ध-शहरी क्षेत्रों और अन्य उच्च माध्यमिक विद्यालयों में पोस्टिंग मिलती है
  4. सीजीएल अधिकारियों का समाज के साथ अधिकतर संवाद बने रहता है जबकि पीजीटी शिक्षकों का उतना नहीं बने रहता है।
  5. सीजीएल की नौकरी के लिए आपका किसी भी एक स्ट्रीम में स्नातक होना जरूरी है। हालांकि, उम्मीदवारों के लिए शिक्षक की जॉब के लिए पीजीटी की तरह बी.एड. होना एक आवश्यक शर्त है।
  6. कुछ एसएससी सीजीएल अधिकारी एक राजपत्रित अधिकारी की रैंक रखते हैं जबकि पीजीटी के माध्यम से एक प्रधानाचार्य / कुछ शिक्षकों को यह सम्मान पाने का अवसर मिलता है।

टिप्स और स्ट्रैटजी के साथ एसएससी सीजीएल करंट अफेयर्स के टॉपिक्स

उपरोक्त चर्चा से, उम्मीदवार यह निष्कर्ष निकाल सकते हैं कि एसएससी सीजीएल नौकरी के कई फायदे और संतुष्टि है। पीजीटी का जीवन एक शांतिपूर्ण जीवन है और यह महिलाओं के लिए अधिक उपयुक्त है। इसीलिए; एसएससी सीजीएल उम्मीदवारों के बीच पीजीटी परीक्षा की तुलना में अधिक पसंद किया जाता है।

ऑल द बेस्ट!!


6 Replies to “SSC CGL OR PGT WHICH ONE IS BETTER?”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *